जाने ग्लोबल हंगर इंडेक्स सूची 2023 मे भारत का स्थान

World food day 2023 : विश्व खाद्य दिवस जिसका आयोजन हर साल 16 अक्टूबर को किया जाता है. यह दिन संयुक्त राष्ट्र और खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) के संस्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है, जोकि वर्ष 1945 में स्थापित किया गया था. हर साल की तरह, आज भी इस दिन को एक विशेष थीम के साथ मनाया जाएगा, जिसका उद्देश्य है दुनियाभर के लोगों को खाद्य सुरक्षा और भूखमरी के मुद्दे पर जागरूक करना। यह दिन भूख की समस्या को हल करने और सुनिश्चित करने का प्रयास करता है क्योंकि हर साल खाद्य की कमी से लाखों लोगों की मौके पर मौत हो जाती है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स

World food 2023 की थीम क्या है

प्रतिवर्ष विश्व खाद्य दिवस को मनाने के लिए एक नई थीम का चयन किया जाता है। इस वर्ष 2023 की थीम ‘पानी ही जीवन, पानी ही खाद्य’ है। इस दिन को दुनिया के 150 देशों में एक साथ मनाया जाता है, जिसका मकसद पानी की महत्वपूर्ण भूमिका को खाद्य के संदर्भ में उजागर करना है।

वर्ल्ड फूड डे पर जाने ग्लोबल हंगर इंडेक्स की रिपोर्ट

ग्लोबल हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index) एक अंतर्राष्ट्रीय सूची है जो खाद्य सुरक्षा की स्थिति को मापने के लिए उपयोग की जाती है। यह सूची बच्चों की अपातकालीन खाद्य कमी, बुढ़ापे में खाद्य कमी, सामूहिक खाद्य सुरक्षा और चाइल्ड अंडरन्यूट्रिशन जैसे मापदंडों को दर्शाती है। यह सूची दुनिया भर में विभिन्न देशों की खाद्य सुरक्षा की गुणवत्ता को मूल्यांकन करने में मदद करती है और विश्व के भूखमरी की स्थिति को दर्शाती है ।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2023 के अनुसार, भारत 125 देशों में से 111वें स्थान पर है, जो भूख के गंभीर स्तर को दर्शाता है। इस रिपोर्ट में पाकिस्तान (102वें), बांग्लादेश (81वें), नेपाल (69वें), और श्रीलंका (60वें) जैसे पड़ोसी देशों ने भारत से बेहतर स्कोर प्राप्त किया है।

देश का नाम हंगर इंडेक्स सूची मे स्थान
श्रीलंका 60
नेपाल 69
बांग्लादेश 81
पाकिस्तान 102
भारत 111

ग्लोबल हंगर इंडेक्स, 2023 के प्रमुख बिंदु क्या है ?

भारत का GHI स्कोर

वर्ष 2023 में भारत का GHI स्कोर 28.7 है, जिसे GHI भुखमरी की गंभीरता के मापदंड के अनुसार “गंभीर” के रूप में वर्गीकृत किया गया है। यह इस दिशा में एक सकारात्मक कदम है क्योंकि यह भारत के खाद्य सुरक्षा के मामले में सुधार को प्रतिपादित करता है।

इसके अलावा, इस स्कोर ने वर्ष 2015 के GHI स्कोर 29.2 के मुकाबले भारत के प्रदर्शन की बेहतरी को दर्शाया है, जो भुखमरी के मामले में सुधार का संकेत है।

इसके अतिरिक्त, वर्ष 2000 में 38.4 और वर्ष 2008 में 35.5 के चिंताजनक GHI स्कोर की तुलना में, यह दिखाता है कि भारत ने अपनी खाद्य सुरक्षा की स्थिति में महत्वपूर्ण प्रगति की है।

वर्ष भारत का GHI स्कोर
2000 38.4
2008 35.5
2015 29.2
2023 28.7

GHI 2023 रिपोर्ट के अनुसार यहाँ भुखमरी का स्तर निम्न है

बेलारूस, बोस्निया और हर्जेगोविना, चिली, चीन और यमन, मेडागास्कर, मध्य अफ्रीकी गणराज्य ग्लोबल हंगर इंडेक्स सूचकांक के मामले में सबसे नीचे हैं।

भारत सरकार ने क्या कहा GHI 2023 रिपोर्ट के बारे मे

केंद्र सरकार का कहना है कि इस इंडेक्स के चार में से तीन इंडिकेटर बच्चों के स्वास्थ्य से संबंधित हैं और ये देश की पूरी आबादी को नहीं प्रतिनिधित्व करते हैं। वहीं ओपिनियन पोल चौथा और सबसे महत्वपूर्ण इंडिकेटर है, जो आबादी में कुपोषितों का अनुपात है। सरकार कहती है कि इतने बड़े देश में ये ओपिनियन पोल सिर्फ 3,000 नमूनों से बनाए गए हैं।
भारत सरकार ने कहा कि ये आंकड़े फर्जी हैं।”
भारत सरकार ने ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2023 की रिपोर्ट को गलत बताया है और इसे गलत बताया है। गुरूवार को समाचार एजेंसी PTI के अनुसार, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने GHI मे भारत की यह स्थिति को नहीं दर्शाता है।

क्यों सरकार ने बच्चों के आंकड़े गलत बताए ?

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने 2023 के ग्लोबल हंगर इंडेक्स में बच्चों के स्वास्थ्य से जुड़े तीनों इंडिकेटर्स पर अपना विचार व्यक्त किया है। हंगर इंडेक्स की रिपोर्ट के अनुसार, विश्व में सबसे अधिक चाइल्ड वेस्टिंग दर भारत में 18.7 प्रतिशत है। ये देश में अत्यधिक कुपोषण का संकेत है।
मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार के पोषण ट्रैकर पर मासिक आंकड़ों को देखते हुए, देश में चाइल्ड वेस्टिंग की दर 7.2 प्रतिशत से लगातार नीचे बनी हुई है। यही कारण है कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स ने 2023 में चाइल्ड वेस्टिंग की दर 18.7 प्रतिशत बताई है

और पढे

Maggi pasta recipe : 5 मिनट में तैयार होने वाली स्वाद से भरपूर रीसिपी


ग्लोबल हंगर इंडेक्स भारत का स्थान क्या है?

ग्लोबल हंगर इंडेक्स, 2023 में, भारत का स्थान 125 देशों में से 111वें स्थान पर है। यह सूचकांक दर्शाता है कि भारत में भुखमरी के स्तर को महत्वपूर्ण रूप से सुधारने की आवश्यकता है।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स कौन जारी करता है?

ग्लोबल हंगर इंडेक्स का आयोजन दो महत्वपूर्ण संगठनों, विश्ववाइड (Worldwide) और वेल्थुंगरहिल्फ (Welthungerhilfe), द्वारा किया जाता है। यह सूचकांक वर्ष 2006 से जारी किया जा रहा है और इसका मुख्य उद्देश्य विश्वभर में भुखमरी की स्थिति को मापना और अद्यतित डेटा प्रदान करना है, ताकि सरकारें और संगठन इस समस्या को समझ सकें और उसका समाधान ढूंढ सकें


पाकिस्तान भुखमरी में कितने स्थान पर है?

ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2023 के अनुसार, इस रिपोर्ट में पाकिस्तान (102वें), बांग्लादेश (81वें), नेपाल (69वें), और श्रीलंका (60वें) जैसे पड़ोसी देशों ने भारत से बेहतर स्कोर प्राप्त किया है।

Leave a Comment