भारत में राष्‍ट्रीय बालिका दिवस हर साल 24 जनवरी को सेलिब्रेट किया जाता है

भारत में राष्‍ट्रीय बालिका दिवस का इतिहास इंदिरा गांधी से जुड़ा हुआ है

24 जनवरी 1966 को इंदिरा गांधी पहली महिला प्रधान मंत्री बनी थी तभी से इस दिन को राष्‍ट्रीय बालिका दिवस चुना गया

राष्‍ट्रीय बालिका दिवस बेटियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने का दिन है

भारत मे बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ, सुकन्‍या समृद्धि योजना, महिला सम्‍मान बचत पत्र जैसी तमाम योजनाएं बेटियों के लिए चलाई गई है

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने 2008 में इस दिन की शुरुआत की थी

2021 में, भारत में कन्या शिशु मृत्यु दर प्रति हजार जीवित जन्म पर 31 मृत्यु थी।

सुकन्या समृद्धि योजना मे अब ब्याज दर 8.2% हो गई है

रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल में  54.9 प्रतिशत लड़कियों का विवाह 21 साल की उम्र से पहले किया जाता है

झारखंड में लड़कियों के बाल विवाह का प्रतिशत सबसे अधिक है

दुनिया का सबसे ज्यादा लड़कियों वाला देश चीन है