Poonam Pandey death की झूठी खबरे फैलाने पर पूनम को होगी जेल

 Poonam Pandey death fake news : एक्ट्रेस और मॉडल पूनम पांडे को लेकर एक खबर आई थी कि फैंस ने एक्ट्रेस के इंस्टाग्राम अकाउंट पर हाल ही में शेयर किया गया एक पोस्ट से हैरान हो गए। इंस्टाग्राम पोस्ट में कहा गया था कि पूनम पांडे का निधन हो गया है। पूनम पांडे की मृत्यु सर्वाइकल कैंसर से हुई बताई जा रही थी । अभिनेत्री पूनम पांडे के मैनेजर ने उनकी मौत का झूठा दावा किया। अभिनेत्री ने शनिवार को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट करके अपने जीवित होने की घोषणा की और कहा Poonam Pandey death की fake news है । अब लोग पूनम को न्यायिक कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं।

 Poonam Pandey death fake news के मुख्य बिन्दु

  • पूनम पांडे की मृत्यु सर्वाइकल कैंसर से हुई बताई जा रही थी ।
  • अभिनेत्री ने शनिवार को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट करके अपने जीवित होने की घोषणा की।
  • अब लोग पूनम को न्यायिक कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं।

पूनम पांडे ने अपनी इस पोस्ट के बाद सोशल मीडिया पर बहुत आलोचना की है। इसे पूनम पांडे की चर्चा में आने का हथकंडा बताया जा रहा है। यह पहला मौका नहीं है जब पूनम ने चर्चा में आने वाली कोई अजीब कार्रवाई की है। उनके ऊपर पहले भी नग्नता फैलाने के आरोप लग चुके हैं।

Poonam Pandey death की झूठी खबरे पर होगी कार्यवाही

पूनम पांडे को अपनी आत्महत्या का नाटक करना भारी पड़ रहा है। वेस्टर्न इंडिया फिल्म वर्कर्स यूनियन ने कहा कि अगर लिखित माफी नहीं मिलती तो वे हड़ताल पर चले जाएंगे। उन्होंने पूनम पांडे से संबंधित किसी भी शूट में भाग नहीं लेने की चेतावनी दी है। पूनम ने कैंसर से मरने की अफवाह फैला दी थी।

क्या Poonam Pandey को सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने पर होगी कार्यवाही ?

“कंप्यूटर, मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से अपराध के खिलाफ कारवाई के लिए आईटी एक्ट 2000 में प्रावधान हैं । धारा-67 के तहत सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक, भड़काऊ या समुदायों के बीच नफरत पैदा करने वाले पोस्ट, वीडियो या तस्वीर शेयर करने पर जेल भी हो सकता है। पहली बार दोषी पाए जाने पर पांच लाख रुपये तक की सजा या तीन साल की जेल हो सकती है। यही अपराध फिर से किया गया तो दोषी को पांच साल की जेल और 10 लाख रुपये तक की सजा हो सकती है। झूठ बोलना और झूठी जानकारी वाले ईमेल या मैसेज भी अपराध हैं।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ता सिद्दार्थ शंकर दुबे ने इस मामले में कहा, ‘अगर कोई दो-तीन दिन के लिए अपनी मौत का दावा करता है और फिर खुद आकर कहता है कि मुझे कुछ नहीं हुआ है.’ इसलिए यह अपराध नहीं है, बल्कि प्रोमोशनल है। दूसरे परिस्थिति में पूनम इसे सच बनाने की कोशिश करेगी, तो यह फ्रॉड होगा 

और पढे

Fighter Box Office Collection Day 10: ‘फाइटर ‘ ने दूसरे शनिवार को शानदार वापसी

अभिषेक कुमार बायोग्राफी जो बिग बॉस 17 के रहे रनर अप

1 thought on “Poonam Pandey death की झूठी खबरे फैलाने पर पूनम को होगी जेल”

Leave a Comment