Chaudhary charan Singh jayanti : ‘किसानों के मसीहा’ चौधरी चरण सिंह की 121वी जयंती ,जीवन परिचय ,विशेष योगदान ,प्रसिद्धि,और इनसे जुड़ी कुछ रोचक बातें।

Chaudhary charan Singh jayanti, Kisan diwas , स्व. चौधरी चरण सिंह जा जन्म , जाती , शिक्षा , राजनीतिक सफ़र ,स्व. चरण सिंह प्रधानमंत्री के रूप में –chaudhary charan singh biography के बारे में सारी जानकारी पढ़ सकते है

Chaudhary charan Singh jayanti – पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की 23 december 2023 अर्थात दिन शनिवार को पूरे देशभर में 121वी जयंती बड़े हर्ष उल्लास से मनाई जाएगी। इस बार यह जयंती युवा संवाद- दो के थीम पर मनाई जाएगी ।

चौधरी चरण सिंह का जीवन परिचय (chaudhary charan singh biography)

नाम चौधरी चरण सिंह
जन्म – स्थान 23 dec.सन 1902 (नूरपुर गांव मेरठ ,उत्तर प्रदेश
मृत्यु- स्थान मई 1987(नई दिल्ली)
पिता का नामचौधरी मीर सिंह
पत्नी का नामगायत्री देवी
पुत्रअजीत सिंह
भाषाहिंदी, अंग्रेजी,और उर्दू
पार्टीकांग्रेस
शिक्षाविज्ञान स्नातक,कला स्नातकोत्तर
विद्यालयआगरा विश्वविद्यालय
प्रसिद्धिकिसान नेता
पदभारत के पांचवे प्रधानमंत्री
योगदानकिसानों के प्रति
रचनाएं अबोलिशन ऑफ जमीदारी,भारत की भयावह आर्थिक स्थिति,इंडियाज पावर्टी एंड इट्स सॉल्यूशंस आदि।
__Chaudhary charan Singh jayanti __

Chaudhary charan Singh jayanti

चौधरी चरण सिंह जीवन परिचय -Chaudhary charan Singh jayanti

ये भारत के पांचवे प्रधानमंत्री थे ,जिन्होंने अनेक कार्यों को करके सभी देशवासियों के दिल में अपनी जगह बना ली। आज भी ये पूरे देश के जनता के ह्रदय में निवास करते है।

चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर सन 1902 में मेरठ के गांव नूरपुर में हुआ था।इनके पिता का नाम चौधरी मीर सिंह था।इनकी पत्नी का नाम गायत्री देवी तथा इनकी एक संतान थी,जिसकाg नाम अजीत सिंह है।इन्हे हिंदी ,अंग्रेजी , उर्दू,तेलुगु आदि भाषाओं का ज्ञान था। ये ज्ञान से परिपूर्ण थे।

यह भी पढ़े –

चरण सिंह का जन्म स्थान व शिक्षा दीक्षा

चरण सिंह का जन्म जाट के घर अर्थात मीर कासिम के परिवार में हुआ था।इनके पिता मीर कासिम किसान थे, ये बहुत निर्धन थे। चरण सिंह अपने माता पिता को बहुत आदर सम्मान देते थे। ये पढ़ाई में अधिक समय व्यव्तित करते थे, इसलिए इन्होंने पढ़ाई को सर्वप्रथम स्थान दिया है।चौधरी चरण की प्रारंभिक पढ़ाई गांव से ही की थी।इन्होंने आगरा विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की व परास्नातक की परीक्षा पास की ओर उच्च श्रेणी में सफल हुए । इन्होंने कई भाषाओं का ज्ञान अर्जित किया। इसके बाद इन्होंने वकालत की पढ़ाई की ओर सफल होने के बाद इन्होंने गाजियाबाद में वकालत का कार्यभार संभाला।

चौधरी चरण सिंह का राजनैतिक इतिहास

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू व चरण सिंह के विचारों व कार्यों में काफी महत्व था, जिससे इन दोनो में काफी बार टकराव हुए है।ये नेहरू जी के आर्थिक नीति के आलोचक थे ।चरण सिंह ने इस टकराव के कारण सन 1967 में कांग्रेस पार्टी को छोड़ दिया।इस पार्टी से इन्हे बहुत लगाव था इसके बाद फिर इन्होंने कई नेताओं के साथ मिलकर एक नई पार्टी का गठन किया।

चौधरी चरण सिंह को मोरारजी देसाई के कार्यकाल में प्रधानमंत्री व गृहमंत्री बनाए गए ।इन्होंने अनेक पार्टी के समर्थन से 28 जुलाई1979 में प्रधानमंत्री पद को संभाला। इंदिरा गांधी ने भी इनका बहुत ।समर्थन किया। इस तरह इनका राजनैतिक सफर बड़ा ही लंबा है।

चरण सिंह का योगदान व उनकी प्रसिद्धि

चौधरी चरण सिंह किसानों के लिए मसीहा थे । इन्होंने पूरे उत्तरप्रदेश राज्य में किसानों से मिलकर उनकी कार्यों में मदद की। चौधरी चरण सिंह को किसानों के प्रति अधिक स्नेह था ,इसलिए इन्हे किसानों का नेता भी खा जाता है। इनके सहयोग से किसान भी अत्यधिक कार्यशील बन गए ।चौधरी चरण सिंह गांधी विचारधारा के नेता भी कहे जाते थे। कई गांधीवादी नेताओ ने जब कांग्रेस पार्टी को छोड़ा तो कई ने गांधी टोपी का त्याग कर दिया पर चरण सिंह टोपी का त्याग कर दिया गया। महात्मा गांधी जी ने भी किसानों को भारत का सरताज खा था। इन्होंने किसानों के जीवन के अनेक तरीके से सुधारा है।

चरण सिंह की कुछ रोचक बातें

1.चौधरी चरण सिंह राजनीति में महान स्थान रखने वाले थे।

2.चौधरी चरण जी की अत्यधिक मेहनत के कारण ही जमींदारी उन्मूलन विधेयक 1952 सफलता पूर्वक पारित हो सका।

3.चरण सिंह राजनेता होने के साथ साथ एक अच्छे लेखक भी थे।इन्हे अंग्रेजी भाषा पर काफी अधिक ज्ञान था।

4.चरण सिंह ने गरीबी हटाओ का नारा दिया।

5.इन्हे प्रधानमंत्री से ज्यादा एक किसान नेता के रूप में याद किया जाता है।

चौधरी चरण सिंह की मृत्यु

चौधरी चरण सिंह की मृत्यु सन1987 को नई दिल्ली में हुई थी।इन्होंने हमारे भारत देश के लिए कई योगदान दिए, इसलिए पूरा भारत देश आज भी इन्हे याद करताहै।

FAQ :

चौधरी चरण सिंह कौन सी जाति के थे?

चरण सिंह का जन्म जाट के घर अर्थात मीर कासिम के परिवार में हुआ था।इनके पिता मीर कासिम किसान थे, ये बहुत निर्धन थे। चरण सिंह अपने माता पिता को बहुत आदर सम्मान देते थे

भारत के 14 वें प्रधानमंत्री कौन है?

भारत के 14 वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी है । उन्होंने प्रधानमंत्री की कमान 26 मई 2014 से सँभाली हुई है ।

चौधरी चरण सिंह कितने दिन प्रधानमंत्री रहे

चौधरी चरण सिंह 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक प्रधानमंत्री के रूप में कार्यरत रहे थे उन्होंने अपना सारा जीवन ग्रामीण परिवेश और किसानों के लिए जिया था इसलिए इन्हें किसानों का मसीहा कहा जाता है ।

और पढ़े –

dunki box office collection 1st day : डंकी ने बॉक्स ऑफिस में मचाया तहलका कमाए करोड़ों रुपए

Kia Sonet Facelift 2024 : कीआ की नई कार हुई न्लॉच जाने कब से शुरू होगी बुकिंग

Leave a Comment