Abhijeet Bal krishna munde :अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे साइको शायर कौन है

अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे बायोग्राफी, अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे वायरल गाना , साइको सिंगर अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे कौन है ,भगवान राम पर वायरल कविता में ऐसा क्या है , इस साइको की क्यों कविता हुई वायरल ( Abhijeet Bal Krishna Munde viral ram song , Kavita on ram,)

abhijeet bal krishna mundeआखिर वह समय आ हो गया जिसका हर हिंदू को वर्षो से प्रतीक्षा थी कि श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में राम मंदिर क्या निर्माण कब होगा 22 जनवरी 2024 को राम मंदिर अयोध्या का प्राण प्रतिष्ठा होगी, लेकिन राम की प्रतिष्ठा सदियों से चली आ रही है। इसी बीच भगवान श्री राम के ऊपर लिखी एक कविता सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है साइको शायर मुंडे नामक एक व्यक्ति की कविता ने सोशल मीडिया पर तूफान मचा दिया है। पहले आप इस कविता के लेखक का वीडियो देख कर , इस वायरल कविता का आनंद ले सकते है इसके बाद हम जानेंगे कि कौन है अभिजीत मुंडे और लोग इन्हें क्यों कहते है साइको सिंगर ।

अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे वायरल वीडियो ,यूट्यूब

अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे कौन है (Abhijeet Bal krishna biography)

अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे महाराष्ट्र के मराठवाडे क्षेत्र के रहने वाले है । भगवान श्री राम के लिए लिखी गई यह कविता इंटरनेट पर वायरल हो रही है । अभिजीत ने सरकारी कॉलेज से बीटेक किया और कविता को पढ़ने और लिखने का शौक पाल लिया । वास्तविक नाम साइको अभिजीत बाल कृष्ण शायर ने इस कविता को लिखा और सुनाया है। वास्तविक नाम साइको शायर अभिजीत बालकृष्ण मुंडे है। अभिजीत बचपन से ही कला के प्रति आकर्षित थे । अभिजीत मुंडे मराठी में स्टैंड अप कॉमेडी और कविताएं लिखते हैं।

कविता का संदेश

अभिजीत मुंडे की कविता भगवान श्री राम के जीवन पर आधारित एक आदर्श जीवन जीने का संदेश देती है । इस कविता से लोगो के दिलो में भगवान श्रीराम की भक्ति की लहर दौड़ सकती है क्यों कि इस कविता की बोल बड़े कट्टाक्ष है । बाल कृष्ण मुंडे की कविता के लिरिक्स आप भी पढ़ सकते है ।

अभिजीत बाल कृष्ण मुंडे

अभिजीत कृष्ण मुंडे वायरल श्रीराम की कविता की लिरिक्स

हाथ काट कर रख दूंगा ये । नाम समझ आ जाए तो कितनी दिक्कत होगी पता है । राम समझ आ जाए तो

राम राम तो कह लोगे पर । राम सा दुख भी सहना होगा पहली चुनौती ये होगी के मर्यादा में रहना होगा

और मर्यादा में रहना मतलब कुछ खास नहीं कर जाना है..बस..बस त्याग को गले लगाना है

और अहंकार जलाना है अब अपने राम लला के खातिर इतना ना कर पाओगे

अरे शबरी का जूठा खाओगे तो पुरुषोत्तम कहलाओगे काम क्रोध के भीतर रहकर तुमको शीतल बनाना होगा

बुद्ध भी जिसकी छांव में बैठे , वैसा पीपल बनाना होगा

बनना होगा ये सब कुछ और वो भी शून्य में रहकर प्यारे तब ही तुमको पता चलेगा..

और पढ़े

Ayodhya ram mandir जाने से पहले पढ़े अयोध्या नगरी का इतिहास

nagri ho ayodhya si lyrics पढे

Leave a Comment